राष्ट्रीय बालिका दिवस कब और क्यों मनाया जाता हैं, आइए जानते हैं इससे जुडी खास बातें .. 

24 जनवरी याने की कल 'राष्ट्रीय बालिका दिवस' के रूप में मनाया जाता है इसकी शुरुआत 2008 में महिला एवं बालिकाओं की विकास के लिए भारत सरकार द्वारा किया गया था

राष्ट्रीय बालिका दिवस कब और क्यों मनाया जाता हैं, आइए जानते हैं इससे जुडी खास बातें .. 

24 जनवरी याने की कल 'राष्ट्रीय बालिका दिवस' के रूप में मनाया जाता है इसकी शुरुआत 2008 में महिला एवं बालिकाओं की विकास के लिए भारत सरकार द्वारा किया गया था इस दिन सेव द गर्ल चाइल्ड, चाइल्ड सेक्स रेशियो और बालिकाओं के लिए स्वास्थ्य और सुरक्षित वातावरण बनाने के लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया जाता है इस दिन विभिन्न कार्यक्रम कर बालिकाओं एवं महिलाओं का प्रोत्साहन बढ़ाया जाता है

यह भी पढ़े :- समाजसेवी, युवा नेता देवेन्द्र प्रताप सिंह बुहाना ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस को 125वी जयंती पर किया नमन

आइए जानते हैं राष्ट्रीय बालिका दिवस से जुड़ी कुछ खास बातें

भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को नारी शक्ति के रूप में याद किया जाता है। 24 जनवरी को पहली बार प्रधानमंत्री बन इंदिरा गांधी कुर्सी पर बैठी थी इसलिए इस दिन को पुरे भारत में “राष्ट्रीय बालिका दिवस” (National Girl Child Day) के रूप में मनाया जाता है।

यह भी पढ़े :-  नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर, सरकार का बड़ा ऐलान

इस दिन को मानाने के पीछे का उद्देश्य था की भारत देश की बेटियों एवं महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचारों के खिलाफ लोगों में जागरूकता फैलाना असमानता का बोध कराना बालिकाओं के अधिकारों से अवगत कराना एवं जागरूकता फैलाना।  स्वास्थ्य, पोषण और बालिका शिक्षा के महत्व को लोगों तक पहुंचाना। 

आज हम राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर हम सब संकल्प करे की बालिकाओ एवं महिलाओ के प्रति होने वाले भेदभाव को दूर करने और परिवार एवं समाज में जागरुकता फैलाने की कोशिश करे.