घर के बजट पर महंगाई का बोझ, आज फिर 25 रूपये बढ़ गए रसोई गैस के दाम

पेट्रोल और डीजल पर  लगातार महंगाई बढ़ाने के बाद  तेल कंपनियों ने रसोई गैस के दामों में एक बार फिर से इजाफा किया है। तेल कंपनियों ने मार्च के पहले दिन ही उपभोक्ताओं को बड़ा झटका दिया है। 1 मार्च को रसोई गैस के दाम फिर से 25 रूपये बढ़ा दिए गए हैं।

घर के बजट पर महंगाई का बोझ, आज फिर 25 रूपये बढ़ गए रसोई गैस के दाम
पेट्रोल और डीजल पर  लगातार महंगाई बढ़ाने के बाद  तेल कंपनियों ने रसोई गैस के दामों में एक बार फिर से इजाफा किया है। तेल कंपनियों ने मार्च के पहले दिन ही उपभोक्ताओं को बड़ा झटका दिया है। 1 मार्च को रसोई गैस के दाम फिर से 25 रूपये बढ़ा दिए गए हैं। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एलपीजी गैस सिलेंडर के दाम 25 रु बढ़कर अब 819 रु हो गए हैं, पिछले 30 दिनों में एलपीजी के दाम चार बार बढ़ चुके हैं।
फरवरी में घरेलू गैस  के दामों में तीन बार बार इजाफा किया गया था। इससे पहले 4 फरवरी को गैस के दामों में 25 रुपए बढ़ाए गए थे। 15 फरवरी को एक बार फिर रसोई गैस के दामों में बढ़ोतरी का ऐलान करते हुए 50 रुपए बढ़ाए गए थे और 25 फरवरी को तीसरी बार रसोई गैस की कीमतें बढ़ाई गई थी। बीते तीन महीने में सिलेंडर के दामों में 100 रुपए की बढ़ोतरी हुई है।
इससे पहले  एक माह में तीसरी बार एलपीजी के दाम बढ़ाए जाने पर कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर हमला बोला था। बता दें कि इससे पहले बिना सब्सिडी वाले 14.2 किलोग्राम के एलपीजी सिलेंडर की कीमत 769 रु से बढ़कर 794 रुपए हो गई थी। बढ़े हुए दाम 25 फरवरी 2021 से लागू किए गए थे।
इससे पहले दिसंबर 2020 में 2 बार रसोई गैस की कीमतें बढ़ाई गईं थी। पहली बार 1 दिसंबर 2020 को रसोई गैस के दामों को 594 रु से बढ़ाकर 644 रुपए किया गया था और फिर 15 दिसंबर को एक बार फिर रसोई गैस की कीमतों को 644 रुपए से बढ़ाकर 694 रु किया गया था। 1 मार्च 2021 को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एलपीजी गैस सिलेंडर के दाम 25 रु बढ़कर अब 819 रु हो गए हैं।
वर्ष २०२१ शुरु होने पर पहले महीने गैर सब्सिडी वाले रसोई गैस (14.2 किलोग्राम) की कीमत 694 रु थी, जिसमे 4 फरवरी को रसोई गैस की कीमतों में 25 रुपए का इजाफा किया, इजाफे के बाद रसोई गैस की कीमत 719 रुपए हो गई थी, फिर 10 दिन बाद ही १४ फरवरी को महीने में दूसरी बार इसके दामों में 50 रु बढ़ाए गए और आज तीसरी बार 25 रुपए की बढ़ोतरी की गई है, जिसके बाद सिलेंडर के दाम बढ़कर 794 रु हो गए हैं। वही देश के कई  राज्यों में पेट्रोल-डीजल की कीमतें 100 रु को पार कर चुकी हैं, पेट्रोल- डीजल के दाम बढ़ने से महंगाई भी आसमान छू रही है।