राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार को चेतावनी दी कि अगर कृषि कानूनों को निरस्त नहीं किया गया तो इस बार 40 लाख ट्रैक्टरों के साथ मार्च निकालेगे

मंगलवार को राजस्थान के सीकर में एक किसान रैली में बोलते हुए टिकैत ने कहा, "हमारा अगला आह्वान संसद के मार्च के लिए होगा। हम मार्च करने से पहले उन्हें बताएंगे। इस बार यह सिर्फ 4 लाख ट्रैक्टर नहीं बल्कि 40 लाख ट्रैक्टर होंगे

राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार को चेतावनी दी कि अगर कृषि कानूनों को निरस्त नहीं किया गया तो इस बार 40 लाख ट्रैक्टरों के साथ मार्च निकालेगे

मंगलवार को राजस्थान के सीकर में एक किसान रैली में बोलते हुए टिकैत ने कहा, "हमारा अगला आह्वान संसद के मार्च के लिए होगा। हम मार्च करने से पहले उन्हें बताएंगे। इस बार यह सिर्फ 4 लाख ट्रैक्टर नहीं बल्कि 40 लाख ट्रैक्टर होंगे

भारतीय किसान यूनियन के नेता,राकेश टिकैत ने धमकी देते हुए कहा है कि अगर तीन किसान कानूनों को केंद्र सरकार ने रद्द नहीं किया,तो किसान 40 लाख डॉक्टरों को लेकर संसद में मार्च करेंगे।

यह भी पढ़े :- केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पुदुचेरी में राष्ट्रपति शासन को मंजूरी दी, पढ़े पूरी जानकारी 

मंगलवार को राजस्थान के सीकर में एक किसान रैली में बोलते हुए टिकैत ने कहा, "हमारा अगला आह्वान संसद के लिए मार्च के लिए होगा। हम मार्च करने से पहले उन्हें बताएंगे। इस बार यह सिर्फ 4 लाख ट्रैक्टर नहीं बल्कि 40 लाख ट्रैक्टर होंगे। अगर कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया जाता है तो वहां जाएंगे। "

बीकेयू नेता ने यह भी मांग की कि किसानों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य सुनिश्चित करते हुए एक नया कानून बनाया जाए। 18 फरवरी को हरियाणा के खरक पुनिया में एक 'किसान महापंचायत' में टिकैत ने कहा कि अगर केंद्र नए कृषि कानूनों के खिलाफ केंद्र सरकार से मांग नहीं करता है तो प्रदर्शनकारी किसान पश्चिम बंगाल में चुनाव को लेकर आंदोलन करेंगे।