महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी चंद्रशेखर आजाद जी की 90वीं पुण्यतिथि पर आज समाजसेवी एवं युवानेता देवेन्द्र प्रताप सिंह बुहाना ने उन्हें स्मरण कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की 

महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी चंद्रशेखर आजाद जी की 90वीं पुण्यतिथि पर आज समाजसेवी एवं युवानेता देवेन्द्र प्रताप सिंह बुहाना ने उन्हें स्मरण कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की 

महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी चंद्रशेखर आजाद जी की 90वीं पुण्यतिथि पर आज समाजसेवी एवं युवानेता देवेन्द्र प्रताप सिंह बुहाना ने उन्हें स्मरण कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की 

दिल्ली। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक एवं लोकप्रिय स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद का आज बलिदान दिवस है। आज ही के दिन यानी 27 फरवरी, 1931 को इलाहबाद में शहीद हुए थे। स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद की 90वीं पुण्यतिथि पर समाज सेवी एवं युवा नेता देवेन्द्र प्रताप सिंह बुहाना ने उन्हें स्मरण किया और श्रद्धांजलि अर्पित की।

देवेन्द्र प्रताप सिंह बुहाना ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के अविस्मरणीय युवा क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद को याद करते हुए कहा कि देश की आजादी में चंद्रशेखर आजाद जी की अहम् भूमिका रही है।चंद्रशेखर आज़ाद जी का कहना था कि भारत माता की दुर्दशा को देखकर जिनको क्रोध न आए, उनके शरीर में खून नहीं पानी है। वे कहा करते थे कि दुश्मन की गोलियों का, हम सामना करेंगे, आजाद ही रहे हैं, आजाद ही रहेंगे और उन्होंने अपने इस कथन को साबित भी किया ।