जनसत्ता दल (लोकतांत्रिक) राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य समाजसेवी युवानेता देवेंद्र प्रताप सिंह बुहाना ने 'शहीद दिवस' पर भारत के वीर सपूतों को किया नमन  

दिल्ली। 23 मार्च 1931 को अंग्रेजों के शासनकाल के दौरान भगत सिंह, राजगुरू और सुखदेव को फांसी दी गई थी, उसी दिन वो तारीख इतिहास के पन्नों में हमेशा के लिए दर्ज हो गई।

जनसत्ता दल (लोकतांत्रिक) राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य समाजसेवी युवानेता देवेंद्र प्रताप सिंह बुहाना ने 'शहीद दिवस' पर भारत के वीर सपूतों को किया नमन  
दिल्ली। 23 मार्च 1931 को अंग्रेजों के शासनकाल के दौरान भगत सिंह, राजगुरू और सुखदेव को फांसी दी गई थी। उसी दिन वो तारीख इतिहास के पन्नों में हमेशा के लिए दर्ज हो गई। इसके बाद से 23 मार्च को देशभर में शहीद दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।
 
जनसत्ता दल (लोकतांत्रिक) के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य समाजसेवी युवानेता देवेंद्र प्रताप सिंह बुहाना ने देश के वीर सपूतों को नमन कर श्रद्धांजलि अर्पित की और कहा कि देश के इन महान बेटों के बलिदान को देश कभी नहीं भूलेगा। उन्होंने कहा कि देश की युवा पीढ़ी हमेशा इन्हें अपने आदर्श के रूप में देखेगी।  देश को आजादी दिलाने में अहम भूमिक निभाने वाले इन वीर सपूतों को मैं सलाम करता हूं। जय हिन्द जय भारत।